जलवायु

ग्वालियर जिला गिर्द क्षेत्र के केंद्र में है, और ज्यादातर समतल है। हालांकि इसके दक्षिणी हिस्से में पहाड़ियों से घिरा हुआ है, समुद्र स्तर से ऊपर केवल कुछ सौ फुट की ऊंचाई है। ग्वालियर 26.22 एन 78.18 ई पर स्थित है
यह 197 मीटर (646 फीट) की एक औसत ऊंचाई पर है।

ग्वालियर की जलवायु गर्मियों और सर्दियों दोनों में चरम सीमाओं पर रहती है। गर्मियों में आमतौर पर बहुत गर्मी होती है और ग्वालियर में सर्दियों बहुत ठंडक रहती है। ग्वालियर में साधारणतया बारिश केवल मानसून के महीनों में ही होती है। मुख्य रूप से उत्तर-पश्चिमी हवाये चलती हैं, ग्वालियर शहर में हवा की गति आम तौर पर गर्मियों में 8 किमी प्रति घंटे, सर्दियों के समय में 2 किमी प्रति घंटे के बीच रहती है। ग्वालियर शहर में आगमन के लिए अक्टूबर से मार्च का महिना सबसे अच्छा है।

गर्मियों के महीनों के दौरान, ग्वालियर की जलवायु में भीषण गर्मी का प्रभुत्व रहता है और आर्द्रता का स्तर भी बड जाता है। अप्रैल के महीने से जून के महीने तक ग्वालियर में 45 से 47 डिग्री सेंटीग्रेड तापमान बड जाता है। ग्वालियर की जलवायु विशेष रूप से साल में बहुत आर्द्र है। ग्वालियर में गर्मियों में 300 औसत तापमान रहता है ।
सर्दियों के मौसम में, ग्वालियर का तापमान 2 डिग्री सेंटीग्रेड तक चला जाता है। सर्दियों के महीनों में औसत न्यूनतम तापमान ग्वालियर में 18.500 सेंटीग्रेड रहता है।
भारत के भूगोल के कारण ग्वालियर शहर बारिश की छाया क्षेत्र में पड़ता है। नतीजतन, यहाँ प्रति वर्ष केवल 700 मिमी औसत वर्षा होती है,जो राज्य के अन्य शहरो के औसत का लगभग आधा है। यहाँ मानसून जून के मध्य से शुरू होता है और आमतौर पर सितंबर के मध्य तक जारी रहता है।